Chemistry of Life

न ये Chemistry होती,

मैं
Student होता !
.
न ये Lab होती, न ये
Accident
होता !
.
अभी Practical में आई नज़र
एक
लड़की !
.
सुन्दर थी नाक उसकी
Test
Tube जैसी !
.
बातों में उसकी Glucose
की
मिठास थी !
.
सांसों में Ester की खुशबु
भी साथ थी !
.
आँखों से झलकता था कुछ
इस तरह का प्यार !
.
बिन पिए ही हो जाता
था
Alcohol का खुमार !
.
Benzene सा होता था
उसकी
Presence का एहसास !
.
अँधेरे में होता था Radium
का आभास !
.
नज़रें मिलीं, Reaction
हुआ !
.
कुछ इस तरंह Love का
प्रोडक्शन हुआ !
.
लगने लगे उस के घर के
चक्कर
ऐसे !
.
Nucleus के चारों तरफ
Electron
हों जैसे !
.
उस दिन हमारे Test का
Confirmation हुआ !
.
जब उसके Daddy से हमारा
Introduction हुआ !
.
सुन कर हमारी बात वो
ऐसे
उचल पड़े !
.
Ignition Tube में जैसे
Sodium
भड़क उठे !
.
वो बोले,”होश में आओ,
पहचानो अपनी औकात !
.
Iron मिल नहीं सकता
कभी
Gold के साथ !”
.
ये सुन कर टूटा हमारे
अरमानों भरा Beaker !”
.
और हम चुप रहे
Benzaldehyde का
करवा घूँट पी कर !
.
अब उस की यादों के सिवा
हमारा काम चलता न था !
.
और Lab में हमारे दिल के
सिवा कुछ और जलता न
था !
.
ज़िन्दगी हो गयी
Unsaturated
Hydrocarbon की
तरह !
.
और हम फिरते हैं आवारा
Hydrogen की तरह..

Advertisements

About Ashish Shah

My Native is Harsol, I am from Harol 27 Samaj.
This entry was posted in Uncategorized. Bookmark the permalink.

પ્રતિસાદ આપો

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / બદલો )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / બદલો )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / બદલો )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / બદલો )

Connecting to %s